Sunday, May 9, 2010

बदलाव : the change

ये जीवन बहुत लम्बा है, पर बदलते क्षणॊ में कट जाता है,
नहीं बदलते हैं हम, बस हमारी जिंदगी बदल जाती है |
नहीं बदलते हैं ये रिश्ते, पर मिठास फीकी हो जाती है,
नहीं बदलता है सत्य, बस पर्याय खो जाते हैं|

प्रेम है वही , पर चाहत बदल जाती है,
लक्ष्य भी है वही, बस उद्देश्य बदल जाते हैं|
जीवन सफ़र है वही, पर साथी बदल जाते हैं,
जवाब भी है वही, बस जिंदगी के सवाल बदल जाते हैं|

अंतिम मंजिल तो है वही चिता अग्नि,पर पहुँचने में ये जीवन लग जाता है |
नहीं बदलता है ये संसार, बस एक किसी पल में हम ही खत्म हो जाता है ||

5 comments:

Smart Primate said...

Awesome work...
a poet is born...
Keep it up...

P.S. People generally write poems when they are melancholic. Is that the case with you???

pranay kumar said...

nice poem.

True_intrepid said...

another outstanding work!!!! keep it up...

Devdeep said...

This took me by surprise. You and a poet? But really, a very good job. Glad to see you in this new avatar.

Vijit said...

thanx all for liking my attempt...

@SP: you need not be sad to write... for i am always happy even without reason... :)